Mere Apne Phir Bhi Paraye (Hindi)

120.00


Back Cover

Author: Meena Kakodkar
Illustrator: Meena Kakodkar
Series: India Library, 300M Library

एक दिन जब उनकी पोती उनसे सवाल पूछने लगती है, तब अतिबाई को महसूस होता है कि जीवन के प्रति उनके विचार बहुत बदल गए हैं। पढ़ो कैसे अपनी पोती के ज़रिए अतिबाई को उन सभी सवालों के जवाब मिलते हैं जो उन्होंने खुद कभी नहीं पूछे।

SKU: 978-93-82454-70-0 Categories: , , , Tag:

Book Details

ISBN

978-93-82454-70-0

Illustrator

Meena Kakodkar

Author

Meena Kakodkar

Series

300M Library

India Library

The Gender Library

Reviews

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Mere Apne Phir Bhi Paraye (Hindi)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *